<
  • 0771-4055708
  • Mon-Sat 10:00 am to 18:00 pm

Old PHQ Premise, Near Raj Bhawan, Raipur, Chhattisgarh, PIN-492001


Tuesday, September 19, 2017 | मदरसा नूरानी स्कूल राजातालाब, रायपुर

मदरसा बोर्ड द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय जी जन्मशताब्दी समारोह के तहत किया व्याख्यान का आयोजन

रायपुर 19 सितम्बर। पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी समारोह के अंतर्गत छ.ग. मदरसा बोर्ड द्वारा यहाँ मदरसा नूरानी स्कूल राजातालाब में व्याख्यान का आयोजन किया गया । पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी समारोह समिति के प्रांतीय सदस्य एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री अवधेश जैन ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय जी निर्धनता से कभी भी हिम्मत नहीं हारे। श्री जैन ने कहा कि पं. उपाध्याय जी के जीवन में अनुशासन सबसे प्रमुख था। उन्होंने कहा कि जब तक जीवन में अनुशासन नहीं होगा हम सफल नहीं हो सकते । श्री जैन ने कहा कि हमें पं. दीनदयाल जी से सीखना चाहिए कि पढ़ाई कैसे करना है, मुश्किल वक्तों का सामना कैसे करना है। श्री जैन ने कहा कि पं. दीनदयाल जी हमेशा गरीबों के उत्थान की चिंता किया करते थे। श्री जैन ने पं. दीनदयाल उपाध्याय जी के जीवन के विभिन्न विषयों पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए छ.ग. मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष श्री मिर्जा एजाज़ बेग राज्य मंत्री दर्जा ने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की शिक्षाएं अनुरकणीय हैं। उन्होंने इस देश की राजनीति को नई दिशा देने का काम किया। श्री बेग ने कहा कि पं. दीनदयाल जी का बचपन बड़ी कठिनाईयों में गुजरा। बचपन में ही पिता एवं माता का निधन हो गया। विषम परिस्थितियों में भी उन्होंने अपनी शिक्षा न सिर्फ पूर्ण की बल्कि मेधावी छात्र के रूप में भी अपनी पहचान बनाई । श्री बेग ने कहा कि पं. दीनदयाल जी ने अंतिम पंक्ति के व्यक्ति के विकास की चिंता की थी ।
कार्यक्रम में श्रीमती लता सुनील चौधरी पार्षद राजातालाब, श्री विपिन पटेल, श्री सुनील चौधरी भा.ज.यु.मो., छ.ग. मदरसा बोर्ड के सदस्य द्वय श्री सूफी एजाज रिजवी एवं श्री साजिद पठान, डॉ. इम्तियाज़ अहमद अंसारी सचिव, श्री एस.एम. हाशिम पूर्व अध्यक्ष मदरसा नूरानी स्कूल विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे। अतिथियों ने इस अवसर पर मदरसा बोर्ड की ओर से समस्त बच्चों को पठन-पाठन सामग्री कापी व पेन का वितरण किया। कार्यक्रम का संचालन सुखनवर हुसैन ने किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में मदरसा नूरानी के छात्र-छात्राओं ने प्रस्तुति दी। सोफिया एवं नफीस ने सूरए अखलास की तिलावत व अनुवाद पेश किया। शिक्षिका मेहरून्निसा ने स्वागत गीत का गायन किया। पं. दीनदयाल उपाध्याय जी पर केन्द्रित भाषण शबाना, शीरीन, फखरून्निसा, मो. हसीब एवं शादाब ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में सतीश शर्मा , मौलाना अमीर बेग, एन. ए. रज़ा, अशरफ अहमद, सुश्री हफीजा जिला उर्दू इंचार्ज, मदरसा नूरानी की शिक्षिकाएं हाजरा बेगम, तसनीम खान, मेहरून्निसा, नैयर जहां, तहसीन अमजद एवं खुश्बू ध्रुव सहित मदरसे के छात्र-छात्राएं तथा स्थानीय गणमान्य लोग मौजूद थे।
सचिव
छत्तीसगढ़ मदरसा बोर्ड , रायपुर

© 2017 Chhattisgarh Madarsa Board . All rights reserved | Design by B CENT